100+ हिंदी Short Stories with Moral for Kids

Here are some popular short stories with moral for kids in Hindi: बच्चों के लिए 2023 की हिंदी लघु कहानियाँ – छोटी कहानियाँ बच्चों के जीवन में बड़ा महत्व रखती हैं। ये उन्हें न केवल बोलने और सुनने की कला सिखाती हैं, बल्कि उन्हें महत्वपूर्ण जीवन सबक सिखाती हैं जो उनके भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक विकास में भी मदद करती हैं। बच्चों के लिए कहानियां हमेशा ज्ञानवर्धक और मनोरंजक होती हैं।

जैसा कि आप जानते हैं, बच्चों को कहानियों सुनने के लिए काफी प्रियता होती है। ये कहानियां उन्हें न केवल बोलने और सुनने की कला सिखाती हैं, बल्कि वे कैसे अपने जीवन को अधिक उत्तम बना सकते हैं और सही दिशा में आगे बढ़ सकते हैं।

आज के इस युग में, इंटरनेट पर कई ऐसी वेबसाइट्स हैं जो बच्चों के लिए नैतिक शिक्षा वाली कहानियों का संग्रह प्रदान करती हैं। इस तरह की कहानियों को पढ़ना बच्चों के लिए न केवल रोचक होता है, बल्कि उन्हें नई-नई बातें सीखने का मौका भी मिलता है।

हिंदी कहानियों में शामिल कुछ अच्छी कहानियों में से कुछ निम्न हैं (Short Stories):

Short Stories in hindi कहानियों से हमेशा कुछ सीख मिलती है, जो हमें समझदार बनाती है। इसलिए हिंदी कहानियाँ चाहे वे छोटे हों या बड़े सभी को बहुत ही पसंद आती हैं, ।

इस आर्टिकल में, हम आपको बच्चों के लिए कुछ रोचक और मनोरंजक कहानियों का वर्णन करेंगे।

चतुर खरगोश और शेर की कहानी (The Cunning Hare and the Lion Story In Hindi)

एक जंगल में एक बहुत शक्तिशाली शेर रहता था। वह प्रतिदिन कई जानवरों का शिकार कर देता था। जिससे चिंतित होकर एक दिन सभी जानवर एक साथ शेर से विनती करने गए, और कहा कि आप हमारे राजा हैं। हम नहीं चाहते कि आपको शिकार करने के लिए इधर-उधर भटकना पड़े। इसलिए हम सभी प्रतिदिन एक जानवर को आपके भोजन के लिए भेज दिया करेंगे। शेर उनकी बात एक शर्त पर माना कि प्रतिदिन खाने के समय एक जानवर उसकी गुफा में पहुँच जाना चाहिए, वरना सबको मार देगा।”

इसलिए प्रतिदिन एक जानवर शेर की गुफा में चला जाता। एक दिन एक चतुर खरगोश की बारी आई, तो वह शेर की गुफा की ओर चल पड़ा और कोई उपाय सोचने लगा। रास्ते में उसे एक गहरा कुँआ दिखा जिसके साफ पानी में उसे अपनी परछाई दिखी, तब उसे एक तरकीब सूझी और खरगोश जानबूझकर धीरे-धीरे आराम से शेर के गुफा की ओर चल पड़ा। जब वह शेर के पास पहुंचा तो बहुत देर हो चुकी थी, जिससे शेर बहुत गुस्सा हो चूका था और एक छोटे खरगोश को देखकर जोर से दहाड़ने लगा।

खरगोश बोला, “महाराज, देरी के लिए क्षमा करें। देरी के लिए मेरा कोई दोष नहीं हैं। आपके भोजन के लिए मेरे साथ चार और खरगोश आये थे, परन्तु रास्ते में हमें एक बहुत शक्तिशाली शेर मिल गया। उसने हमें रोक लिया और पूछने लगा कि कहाँ जा रहे हो। जब हमने उसे पूरी बात बताई तो वह बहुत गुस्सा होकर कहने लगा की वही जंगल का असली राजा है। और वह आपको नकली राजा कहने लगा। उसने झपटकर चारों खरगोशों को पकड़कर खा लिया और मुझे आपके पास भेज दिया!”

शेर बहुत गुस्से में आकर जोर जोर से दहाड़ने लगा और बोला कि मुझे अभी उसके पास ले चलो !!! खरगोश शेर को उस कुएँ के पास ले गया और बोला, “अंदर झाँकिए महाराज, आपको कुएँ के अंदर वह दूसरा शेर दिख जाएगा।” शेर ने कुएँ में झाँककर देखा। उसे अपनी ही परछाई दिखाई दी। वह समझा की वही दूसरा शेर हैं। गुस्से में दहाड़ मारकर वह कुएँ में कूद गया और डूबकर मर गया। जिससे चतुर खरगोश की जान बच गई। उसने जंगल के सभी जानवरों को शेर के मारे जाने की बात बताई। खुंखार शेर के मारे जाने से सारे जंगल में खुशी फैल गई।

शेर और चतुर खरगोश कहानी से सीख

The moral of the story: Lion and the Clever Rabbit – घोर संकट की परिस्थितियों में भी हमें सूझ बूझ और चतुराई से काम लेना चाहिए और आखिरी दम तक प्रयास करना चाहिए। सूझ बूझ और चतुराई से काम लेकर हम भयंकर संकट से उबर सकते हैं और बड़े से बड़े शक्तिशाली शत्रु को भी पराजित कर सकते हैं।

These short stories are not only entertaining but also teach important moral lessons to children. These Hindi Short stories are full of imagination, adventure, and moral lessons. They are great for kids to read or listen to before bedtime or during free time. They are also an excellent way to improve their Hindi language skills.

शेर और बकरी की कहानी (The Lion and the Goat Story In Hindi)

शेर और बकरी की कहानी (The Lion and the Goat Story In Hindi)
The Lion and the Goat Story In Hindi (शेर और बकरी की कहानी)

एक बार एक बूढ़ी बकरी जंगल में अन्य बकरियों के साथ घास चरने गई हुई थी। जब दिन पूरा हुआ तो बूढी बकरी अन्य सभी बकरियों के साथ घर लौट रही थी लेकिन कमजोर ओर बूढ़ी होने की वजह से बकरी जल्द ही थक गई और पीछे रह गई। अब काफी अधिक अंधेरा हो चूका था और वह वापस अपना रास्ता नहीं खोज पाई।

और फिर बूढ़ी बकरी जंगल में भटक गयी, तो उसे भटकते-भटकते एक गुफा दिखाई दी। बूढ़ी बकरी ने रात गुजारने के लिए गुफा में घुसने का फैसला किया। लेकिन जैसे ही वह गुफा के अंदर गई, उसे एक शेर अन्दर बैठा हुआ मिला।

बूढी बकरी बहुत ही ज्यादा डर गयी लेकिन एक पल के लिए वही खड़ी रही और उसने सोचा कि वह क्या कर सकती है। बूढी बकरी ने सोचा की, अगर वह दौड़ने की कोशिश करेगी तो शेर जल्द ही उसे पकड़ कर मार के खा जायेगा, लेकिन अगर वह शेर से नहीं डरने का नाटक करेगी तो शायद अपनी जान बचा सकती है।

बूढी बकरी साहसपूर्वक शेर के पास गई जैसे वह उससे बिल्कुल भी नहीं डरती हो। शेर ने उसे देखा और सोचा कि बकरियों ने आज तक कभी भी उसके पास आने की हिम्मत नहीं की, तो यह एक बकरी नहीं हो सकती है। यह जरुर कोई बुरी आत्मा है।

शेर खड़ा हुआ और बूढ़ी बकरी से पूछा, तुम कौन हो? इस पर बूढ़ी बकरी ने कहा: “मैं बकरियों की रानी हूँ” “मैं सौ बाघ, पच्चीस हाथी और दस शेर खाने आयी थी। मैंने सौ बाघों और पच्चीस हाथियों को खा लिया है और अब मुझे दस शेरों की तलाश है”

यह सुनकर शेर बहुत हैरान हुआ और अपनी जान बचाने के लिए तेजी से गुफा से बाहर भागा।

शेर जब भाग रहा था तो रास्ते में उसे एक सियार मिल गया। जानवरों के राजा को घबराता देख सियार ने शेर से पूछा, “क्या बात है महाराज, आप इतने डरे हुए और इतनी तेजी से क्यों भाग रहे हैं?” शेर ने सारी कहानी सियार को बता दी।

लोमड़ी बहुत होशियार थी। उसने जल्द ही अनुमान लगा लिया कि शेर जिससे डर रहा है, वह एक बूढ़ी बकरी है। और लोमड़ी ने शेर से कहा कि आप मेरे साथ अपनी गुफा में वापस चलें।

शेर लोमड़ी को लेकर वापस गुफा में आ गया। जब बकरी ने शेर को लौटते देखा तो वह समझ गई कि क्या हो रहा है, और उसने हिम्मत नहीं हारी।

उसने लोमड़ी से कहा, कि क्या तुम मेरी आज्ञा का पालन ठीक से नहीं कर सकती हो, मैंने तुम्हें दस शेर लाने के लिए भेजा था, लेकिन तुम सिर्फ एक ही शेर ले आई हो।

यह सुनते ही शेर ने सोचा कि लोमड़ी ने उसे धोखा दिया है। शेर ने लोमड़ी पर झपट्टा मारा और अपने तीखे दांतों से उसके टुकड़े-टुकड़े कर डाले। और शेर गुफा से बहुत दूर भाग गया।

मौका पाकर बूढ़ी बकरी भी गुफा से बाहर निकल आई और अपने घर की ओर चल दी।

शेर और बकरी की कहानी से सीख

The moral of the story: The Lion and the Goat Story In Hindi – इस कहानी से हमें यह सीख मिलती हैं कि साहस और सूझ बुझ से हार को भी जीत में बदला जा सकता हैं।

These Short stories in hindi are entertaining, engaging, and educational. They help children develop their language and reading skills, as well as their cognitive and emotional intelligence. Parents can use these Short stories in hindi to teach their children about important values, such as honesty, perseverance, and teamwork, and help them develop empathy and understanding towards others. They can also use these short stories in hindi to spark their children’s creativity and imagination and inspire them to explore the world around them.